‘भारत के प्रति पाक-चीन के दोहरे रवैये के खिलाफ ट्रंप’

एक ओर पाक-चीन आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ कंधे दे कंधा मिलाकर चलने को कहते हैं, दूसरी ओर वो आतंक के आकाओं को समर्थन करते हैं, अत: दोनों ही देश भारत के साथ दोहरा रवैया इख़्तियार करते हैं।

ट्रंप ने UNO को जमकर लगाई लताड़, कहा ...

मगर पाक-चीन का ये रवैया अब नहीं चलने वाला है। क्यूंकि भारत को इस दोहरे रवैये के खिलाफ साथ मिल सकता है अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का।

रिपब्लिकन हिंदू कोएलिशन (RHC) के संस्थापक एवं अध्यक्ष और साथ ही ट्रम्प के विश्वसनीय सहयोगियों में से एक शलभ कुमार का कहना है कि ट्रम्प भारत के किसी भी पड़ोसी देश के दोहरे रवैए को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

उन्होंने यह भी कहा कि ट्रम्प भारत-पाक दोस्ती का समर्थन करेंगे। मगर वो पाकिस्तान के साथ सख्त व्यवहार रखेंगे।

ट्रम्प के पक्ष में हिंदुओं का समर्थन जुटाने वाले शलभ कुमार को ट्रांजिशन फाइनेंस ऐंड इनागुरेशन कमेटी का सदस्य बनाया गया है।

उनका कहना है कि ट्रम्प प्रशासन भारत के साथ अच्छे रिश्ते रखना चाहते है। साथ ही ट्रम्प पाकिस्तान के साथ बहुत सपाट रिश्ते रखेंगे।

उल्लेखनीय है कि भारत में आतंकवाद पाकिस्तान में चल रहे आतंकी संगठनों की देन है, मगर पाक इन पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा। वहीं चीन भी पाकिस्तान को सह देता है।

लेकिन ट्रंप के आने के बाद भारत को अब उम्मीद है कि वे इस मामले में पाकिस्तान और चीन के साथ कुछ सख्ती दिखाएंगे।

Follow us on facebook -