कैफ का कट्टरपंथियों को जवाब : सूर्य नमस्कार के समय दिल में अल्लाह था

पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ को साथी क्रिकेटर मोहम्मद शमी को समर्थन करना भारी पड़ता दिख रहा है। उल्लेखनीय है कि पत्नी के साथ फोटो डालने पर कट्टरपंथी मुस्लिमों के निशाने आए शमी को कैफ ने समर्थन किया था।

इस तरह जैसे ही उन्होंने शनिवार को सूर्य नमस्कार करते हुए ट्विटर पर अपनी कुछ फोटोज डालीं। कट्टरपंथी मुस्लिमों ने उनको भी निशाने पर ले लिया।

कैफ ने इन तस्वीरों के साथ लिखा कि सूर्य नमस्कार शारीरिक सिस्टम के लिए कंप्लीट वर्कआउट है। इस एक्सरसाइज को करने के लिए किसी भी अन्य उपकरण की जरूरत नहीं है।

कैफ के इस ट्वीट पर कुछ मुस्लिम भड़क गए। ये मुस्लिम उनके सूर्य नमस्कार करने पर विरोध जता रहे थे और उन्हें इस्लाम की शिक्षा को मानने की सलाह दे रहे थे।

इन मुस्लिमों ने कहा कि सूर्य नमस्कार इस्लाम और उसके परंपराओं के खिलाफ है। इस्लाम में सूर्य नमस्कार की मनाही है। हम अपना सिर अल्लाह के अलावा किसी और के सामने नहीं झुका सकते।

जिसके बाद कैफ ने लिखा – ” अभ्यास करते समय मेरे दिल में अल्लाह था। मैं यह नहीं समझ पा रहा हूं कि कोई भी एक्सरसाइज, चाहे वह सूर्य नमस्कार हो या जिम हो इसका धर्म से क्या संबध है? यह सभी को फायदा पहुंचाती है। ”

वहीं इससे पहले कैफ ने ‘सूर्य नमस्कार’ करती अपनी फोटो शेयर करते हुए लिखा था -” यह संपूर्ण व्यायाम है जिसके लिए किसी भी तरह के अतिरिक्त उपकरण की जरूरत नहीं होती। “

Follow us on facebook -