विष्णु पुराण के अनुसार पूजा में यह वस्तुएं होना अत्यंत आवश्यक है

विष्णु पुराण के अनुसार पूजा में यह वस्तुएं होना अत्यंत आवश्यक है

विष्णुपुराण के अनुसार पूजा में यह वस्तुएं होना अत्यंत आवश्यक है

घर में सुख शांत‌ि और समृद्ध‌ि के ल‌िए सभी लोग घर में पूजा स्थान बनाते हैं। ज‌िसे पूजा घर कहा जाता है। हिन्दुओं के पूजा घर में सही तरीके से पूजा करने के लिए कई चीजें जरूरी होती है। आइए जानते हैं विष्णुपुराण के अनुसार पूजा घर में कौन-कौन सी चीजें होना अनिवार्य होता है।

1-आचमनी 

विष्णुपुराण के अनुसार पूजा में यह वस्तुएं होना अत्यंत आवश्यक है

छोटे से ताम्बे के लोटे में जल भरकर उसमें तुलसी डालकर हमेशा पूजा स्थल पर रखा जाता है। यह जल आचमन का जल कहलाता है। इस जल को तीन बार ग्रहण किया जता है। इससे पूजा का दोगुना फल मिलता है।

2-पंचामृत 

विष्णुपुराण के अनुसार पूजा में यह वस्तुएं होना अत्यंत आवश्यक है

दूध, दही, शहद, घी व शुद्ध जल के मिश्रण को पंचामृत कहते हैं। कुछ विद्वान दूध, दही, मधु, घी और गन्ने के रस से बने द्रव्य को पंचामृत कहते हैं। इस सम्मिश्रण में रोग निवारण के गुण होते हैं।

3-चन्दन 

विष्णुपुराण के अनुसार पूजा में यह वस्तुएं होना अत्यंत आवश्यक है

चंदन शीतलता का प्रतीक है। इसकी सुगंध से मन के नकारात्मक विचार खत्म होते हैं। चंदन को मूर्ति के सिंगार में उपयोग किया जाता है। माथे पर चंदन लगाने से दिमागी शांति बनी रहती है।

4-अक्षत 

विष्णुपुराण के अनुसार पूजा में यह वस्तुएं होना अत्यंत आवश्यक है

चावल को अक्षत भी कहा जाता है। भगवान को अक्षत अर्पित करने का अर्थ है कि हम अपने वैभव का उपयोग अपने लिए नहीं, बल्कि मानव की सेवा के लिए करेंगे।

NEXT कर आगे पढ़ें :- अन्य आवश्यक वस्तुएं 

Follow us on facebook -