मोदी सरकार का मक्का जाने वाले हज यात्रियों को तोहफा

मोदी सरकार ने हज यात्रियों के कोटे में खासी वृद्धि कर मुसलमानों को अपनी तरफ करने की कोशिश की है। खबर अनुसार भारत सरकार की मांग को मानते हुए सऊदी अरब ने वार्षिक हज कोटे में 34,500 की बढ़ोत्तरी की है।

इस देश में मुसलमानों को हज पासपोर्ट जारी करने पर लगी रोक

बता दें कि साल 1988 के बाद पहली बार भारत से हज यात्रा पर जाने वाले यात्रियों के कोटे में इतनी वृद्धि की गई है।

खबर अनुसार पिछले साल यानि 2016 मे देश भर के 21 केन्द्रों से 99,903 हाजियों ने हज कमेटी ऑफ इंडिया के जरिए हज किया और 36 हजार हाजियों ने प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के जरिए हज की अदायगी की थी।

सऊदी अरब के जिद्दा में आज केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने सऊदी अरब के हज एवं उम्रा मंत्री डॉ. मुहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन के साथ हज 2017 के सम्बन्ध में समझौते पर हस्ताक्षर किये।

इस मामले में नकवी ने कहा कि यह बड़ी खुशी की बात है कि सऊदी अरब ने भारत के हज कोटे में 34,500 की वृद्धि कर दी है।

उन्होंने कहा है कि डॉ. मुहम्मद सालेह बेन्तेन से उनकी मुलाकात बहुत सकारात्मक एवं सार्थक रही जिसमे भारत से हाजियों के कोटे, हज 2017 के दौरान हज यात्रियों के लिए यातायात, निवास, सुरक्षा व्यवस्था आदि से सम्बंधित मुद्दों पर विस्तारपूर्वक चर्चा हुई।

उन्होंने कहा कि हज भारत-सऊदी अरब के द्विपक्षीय संबंधों का एक मजबूत स्तम्भ है।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि भारत सरकार, हज कमिटी ऑफ़ इंडिया एवं अन्य एजेंसियां हज 2017 को कामयाब, सुरक्षित, सरल-सुगम बनाने के लिए सऊदी अरब की सरकार को पूरा सहयोग प्रदान करेंगे।

उन्होंने कहा कि भारत में पहली बार हज आवेदन प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटल हो गई है। 2 जनवरी, 2017 को हज कमिटी ऑफ़ इंडिया मोबाइल ऐप लांच किया गया।

हज के लिए भारत में आवेदन भी 2 जनवरी, 2017 से शुरू हो गए हैं। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 24 जनवरी, 2017 की गई है।

Follow us on facebook -