फिर बुरे फंसे आमिर, फिल्म दंगल पर लगा राष्ट्रगान के अपमान का आरोप

बुरा फंस सकती है आमिर खान की फिल्म दंगल, लगा राष्ट्रगान के अपमान का आरोपमुंबई : इन दिनों बॉलीवुड सुपरस्टार एवं मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान के सितारे कुछ सही नहीं चल रहे हैं। आये दिन कभी वह खुद विवादों में फंस जाते हैं और कभी उनकी फिल्म। एक बार फिर उनकी फिल्म दंगल गलत कारणों से सुर्ख़ियों में है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अब एक एनजीओ और उनसे जुड़े वकील ने आरोप लगाया है कि दंगल के प्रदर्शन के दौरान राष्ट्रगान प्रसारित करने के नियमों की अनदेखी की गई, इसलिए अब दंगल के निर्माताओं के खिलाफ कानूनन कार्यवाही की जायेगी।

बताया जा रहा है कि, आदिल खत्री नामक एक वकील ने ‘जय हो फाउंडेशन’ नामक एक एनजीओ के सहयोग से फिल्म दंगल पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है।

उनका आरोप है कि दंगल में राष्ट्रगान का अपमान किया गया है। दरअसल फिल्म दंगल में एक सीन है जब गीता फोगट का किरदार कुश्ती का एक बड़ा मुकाबला जीत जाता है और उनके बाद धीरे से राष्ट्रगान बजता है।

आरोप है कि फिल्म में राष्ट्रगान के नियमों की अनदेखी की गई है और ये सुप्रीमकोर्ट की राष्ट्रगान बजाने के नियमों का उल्लंघन है।

जय हो फाउंडेशन के ट्रस्टी और लीगल हेड आदिल ने इस बारे में सेंसर बोर्ड को एक लेटर भेजा है जिसमें कानूनी कार्रवाई की बात कही गई है।

उनका आरोप है कि उस सीन में राष्ट्रगान की आवाज़ पहले एकदम धीमी थी और फिर धीरे धीरे तेज़ हो गई। ये सरासर सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन है।

इतना ही नहीं उस सीन के दौरान राष्ट्रगान प्रसारित करने का डिस्क्लेमर भी लगाया जाना चाहिए था। आदिल ने कहा है कि वो चाहते है कि सेंसर बोर्ड पहले अपनी तरफ से कोई एक्शन ले और यानि ऐसा नहीं होता है तो वो अदालत में अर्जी दाखिल करेंगे।

आमिर और उनकी फिल्म दंगल से जुड़ा यह दूसरा नकारात्मक मामला है। इससे पहले गीता और बबिता फोगट के कोच पी आर सोंधी ने दंगल में उनके किरदार का अपमान किये जाने का आरोप लगाते हुए लीगल एक्शन लेने की बात कही थी।

कोच ने आरोप लगाया था कि, बेवजह फिल्म में उनकी बेइज्जती दिखाई गई है, जबकि असल में ऐसा नहीं है और फोगट परिवार के साथ उनके सम्बन्ध बहुत अच्छे हैं।

Follow us on facebook -